शराब Vs अर्थव्यवस्था | Social Media Par Viral Ho Rahe Photos Aur Memes

    social-media-viral-news

    Sharab vs Economy, Social Media Par Viral Ho Rahe Photos & Memes

    1) भाषण से विकास कर दूं:
    भाषण से कालाधन वापस ला दूं
    भाषण से मंहगाई दूर कर दूं
    भाषण से डॉलर रुपया बराबर कर दूं
    भाषण से 15 लाख दिला दूं
    भाषण से 20 लाख करोड़ दिला दूं
    भाषण ही मेरा शाशन है। 😯😯


    sharab-vs-economy-social-media-viral-photos

    2) ना मुंह छुपाके पियो:
    अब देश की अर्थव्यवस्था तुम्हारे हवाले है शराबियों,
    इतना पियो, इतना पियो कि भारत सोने की चिड़िया बन जाए। 🤓🤓


    sharab-vs-economy-social-media-viral-photos

    3)झूम शराबी झूम:
    शराबी तो दिव्यात्मा हैं,
    जब फ़्री में पीते हैं तो सरकार बदल देते हैं
    और जब खरीद कर पीते हैं
    तो अर्थव्यवस्था। 😳😳

    Social Media Par Viral Ho Rahe Photos & Memes

    sharab-vs-economy-social-media-viral-photos

    4) सबसे ज़रूरी है शराब:
    सरकारी फरमान
    केवल ज़रूरी चीजें ही खुलेंगी
    स्कूल कॉलेज बन्द रहेंगे।
    और हम समझ रहे थे पढ़ाई ज़रूरी है
    लेकिन ज़रूरी तो शराब है। 🍷🍷


    sharab-vs-economy-social-media-viral-photos

    5) नशा ही नशा है:
    नशा धर्म का हो या शराब का
    इसका बढ़ावा सरकार ही देती है,
    क्योंकि लोग इससे बाहर आ गए तो
    शिक्षा, ग़रीबी और रोजगार पर सवाल करेंगे। 🙊🙊


    sharab-vs-economy-social-media-viral-photos

    6) सत्येमव जयते:
    550 केस थे तब लॉकडाउन कर दिया
    ( चलो ये अच्छी बात है )
    पर अब 42800 केसेज पर
    शराब की दुकानें खोल दी
    इसे बोलते हैं अनपढ़ सरकार। 🤔🤔

    सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे फोटोज

    sharab-vs-economy-social-media-viral-photos

    7) जनता शराब लेने जाएगी
    तो लॉकडाउन का उल्लंघन नहीं है
    अगर जनता कमाने बाहर निकलेगी तो
    ये लॉकडाउन का उल्लंघन है।
    कैसे नमूने सरकार में हैं। 😯😯


    sharab-vs-economy-social-media-viral-photos

    8) नशा शराब में होता तो झूमती बोतल:
    अब समझ आया कि
    एक शराबी के पैर क्यों डगमगा जाते हैं,
    क्योंकि उसके कन्धों पर देश की
    अर्थव्यवस्था का बोझ होता है। 🙄🙄


    sharab-vs-economy-social-media-viral-photos

    9) और अंत में एक कड़वा सवाल:
    प्रधानमंत्री एक बार अच्छे से सोच समझ कर बता दें कि देश की आर्थिक स्थिति अच्छी है या बुरी,
    अगर अच्छी है तो गरीबों को राहत पैकेज दें, किसानों का क़र्ज़ माफ़ करें, यहां वहां कटौती ना करें, पेट्रोल डीजल सस्ता करें।
    और अगर बुरी है तो नया संसद भवन बनाना छोड़ें और अपने लिए नया प्लेन ना खरीदें। 🥀🥀

    Latest Posts

      "; //